पूरक पोषाहार कार्यक्रम
Technical G.K.

पूरक पोषाहार कार्यक्रम

पूरक पोषाहार कार्यक्रम उद्देश्य
इस योजना का उद्देश्य आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से राज्य के 6 माह से 6 वर्ष तक की आयु के बच्चे गर्भवती प्रस्तुति महिलाएं तथा किशोरी बालिकाओं के पोषण और स्वास्थ्य की इस स्थिति को सुधारना तथा उचित पोषण और स्वास्थ्य शिक्षा के माध्यम से बच्चों के सामान्य स्वास्थ्य पोषण संबंधी जरूरतों की देखभाल के लिए माताओं की क्षमता बढ़ाना है।

पूरक पोषाहार कार्यक्रम निधि का संवितरण

पूर्वक पोषाहार कार्यक्रम के लिए कदम बस केंद्र एवं राज्य का अनुपात 50:50 है दे राशि पूर्वक पोषाहार कार्यक्रम अंतर्गत केंद्र सरकार राज्य/ सरकार द्वारा समय-समय पर तथा संशोधित दरें लागू होंगी।

आंगनबाड़ी केन्द्रों पर पूरक पोषाहार का मेनू निर्धारित

पूरक पोषाहार कार्यक्रम पात्रता
राजकीय आंगनवाड़ी केंद्र मैं नामांकित 6 माह से 6 वर्ष के सभी बच्चे गर्भवती तथा धातृ महिलाएं।

पूरक पोषाहार कार्यक्रम प्रक्रिया

आंगनबाड़ी केंद्र के पोषक क्षेत्र के सभी ग्रहों का आंगनबाड़ी सेविका द्वारा सर्वेक्षण कर आगनबाडी केंद्र द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं की योग्य लाभार्थी तथा 0 -6वर्ष तक के बच्चे गर्भवती एवं प्रस्तुत किशोरी बालिका की सूची तैयार की जाती है इस सूची में अंकित सभी योग्य लाभार्थी जो आंगनवाड़ी केंद्र के माध्यम से पूर्वक पोषाहार प्रदान किया जाता है।

जमीन संपत्ति पंजीकरण: प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए भूमि अभिलेखों को ई-कोर्ट से जोड़ने की योजना

पूरक पोषाहार कार्यक्रम उपयोगिता प्रमाण पत्र की प्रक्रिया

बाल विकास परियोजना पदाधिकारी द्वारा राशि की उपयोगिता प्रमाण पत्र जिला प्रोग्राम पदाधिकारी के माध्यम से आई सी0डी0एस निदेशालय में भेजा जाता है आई सी0डी0एस निदेशालय द्वारा विभागीय अनुमोदन उपयोगिता प्रमाण पत्र महालेखाकार /भारत सरकार को भेजा जाता है

पूरक पोषाहार कार्यक्रम अनुश्रवण की प्रक्रिया

सामाजिक अंकेक्षण साठी आंगनवाड़ी केंद्र पर दी जाने वाली सेवाओं का वर्ष में दो बार सामाजिक अंकेक्षण कराया जाता है तथा समय समय पर राजस्थान तथा जिला स्तर पर गठित टीम द्वारा भी निरीक्षण किया जाता है पर्यवेक्षण/ निरीक्षण आंगनवाड़ी केंद्रों पर पर्यवेक्षण/ निरीक्षण हेतु औसतन 25 आंगनबाड़ी केंद्र पर एक महिला पर्यवेक्षिका परियोजना पत्थर पर बाल विकास परियोजना पदाधिकारी जिला स्तर पर जिला प्रोग्राम पदाधिकारी स्थापित है
सूचना तकनीक से अनुश्रवण आंगनवाड़ी केंद्र द्वारा दी जाने वाली सेवाओं में प्रारर्शित लाने हेतु ICT-RTM (Information Commnuication Technolgy Real Time Monitoring अन्तर्गत ICDS CAS Common Application Software) तथा आधार एप के द्वारा भी आंगनबाड़ी केंद्र का अनुश्रवण होगा।

शादी के तीसरे दिन दुल्हन से बलात्कार, पति ने गर्म चिमटे से दागे, प्राइवेट पार्ट में लाठी डाली

शिकायत निवारण एवं एस्केलेशन मैट्रिक्स

अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी जिला स्तर पर जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी एवं विभागीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी का कार्यालय कार्य योजना के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं से संबंधित अपील दायर की जा सकती है साथ ही परियोजना स्थल पर बाल विकास परियोजना पदाधिकारी जिला स्तर पर जिला ग्राम पदाधिकारी जिला पदाधिकारी प्रमंडल स्तर पर दलीय आयु तथा राज्य स्तर पर निदेशक आई0सी0डी0एम एवं अपर मुख्य सचिव /प्रधान सचिव/ सचिव या समाज कल्याण विभाग से लिखित/ दूरभाष पर संपर्क कर समस्या को दर्ज करा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.