महापर्व छठ
त्योहार

महापर्व छठ पर महिलाओं ने शनिवार सुबह सूर्य देव को अर्घ्य देकर व्रत का समापन किया

बिहार। महापर्व छठ पर महिलाओं ने शनिवार सुबह सूर्य देव को अर्घ्य देकर व्रत का समापन किया। छठ पूजा के लिए सुबह से ही घाटों पर लोगों की भीड़ उमड़ी थी। महिलाओं ने छठी मैया और सूर्य भगवान को अर्घ्य देने के बाद छठ का प्रसाद ग्रहण कर व्रत खोला। अर्घ्य देने के बाद महिलाओं ने सूर्य देव और छठी मैया से मनोकामना पूर्ति के लिए प्रार्थना की।

ऐसे हुआ छठ पूजा का समापन

बता दें कि महापर्व छठ पूजा का समापन सप्तमी तिथि को किया जाता है। इस दिन छठ घाट पर पानी में खड़े होकर उगते सूर्य को पवित्र जल से अर्घ्य दिया जाता है और सूर्य देव तथा छठी मैया से मनोकामना पूरी करने की कामना की जाती है।

छठ पूजा के इस पावन अवसर पर लोगों ने आज उगते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद सूर्य देव से प्रार्थना की और प्रसाद ग्रहण किया।

छठ पूजा में इस्तेमाल होती ये चीजे

छठ पूजा की बांस की 3 बड़ी टोकरी, बांस या पीतल के बने 3 सूप, थाली, दूध और ग्लास, चावल, लाल सिंदूर, दीपक, नारियल, हल्दी, गन्ना, सुथनी, सब्जी और शकरकंदी, नाशपती, बड़ा नींबू, शहद, पान, साबुत सुपारी, कैराव, कपूर, चंदन और मिठाई, प्रसाद के रूप में ठेकुआ, मालपुआ, खीर-पुड़ी, सूजी का हलवा, चावल के बने लड्डू आदि चीजे प्रयोग में लाई जाती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *